Cryptocurrency क्या है?

क्या इस मे आप को पैसे लगाना चाहिए यानहीं लगाना चाहिए आप को पता होना चाहिए इˈलीग्‌ल्‌ है या नहीं है। कैसे पैसे लार लगाया जाता है कैसे नही लगाया जाता है है लोग कैसे पैसे कमा रहे हैं। या आप कमा सकते है या फीर नही इस सब सभी बातो का जवान मैं बहुत ही असान भाषा में समझने की कोशीश करेंगे इस सभी बीन चीज को समझने के लिए पहले आप को समझना होगा क्रिप्टो करेंसी क्या है, पेहले यह समझना होगा

Cryptocurrency क्या है? मान लिजिए की पूरी दूनीया में 200 Country उस सभी 200 country को सभी की अलग अलग एक एक करेंसी होती गयी पूरी दुनीया में 200 करेंसी हो गयी करीपटो करेंसी भी कुछ ऐसी ही करेंसी है, जिसे Digital currency कहते हैदुनीया के पैसो को हम करेंशी कहते हैं। हम इंडीया मैं रहते है। अम इंडीया के करेंशी को INR या फीर रूपया यदी हम USA मैं रहते है। तो हम वहा के पैसो को हम doller कहते – है। यदी हम urop में ही रहते है हम तो हम वहा के पैसो को हम uro कहते हैं। ऐसे ही हम मां क्रप्टो करेंशी भी कुछ पैसे ही Digital करेंशी है। इसके अंदर बहुत सारी करेंगी आती हैजैसे Bitcoin, Ethereum• Ripple ऍजी बहुत सारी करेंगी है। आप के मन में यह चल रहा होगा की इस cripto करेंशी को बनाने की जरूरत क्यो पड़ी

क्रिप्टो करेंसी क्यों बनाई गई?

2008 में अमेरीका के अंदर बहुत बड़ा अमेरीक financial बहुत बड़ा करेश आयाउस का असर पूरी दूनीयां पड़ परा 2008 के अंदर शेयर मारके में इतना बड़ा गिरावट आया था लोगो कि लेगो का बहुत सारा पैशा देखते देखते डूब गया। उस समे कीशी व्यकती ने यह सोचा होगा की यह तो बहुत ही गलत हुआ लोगो का पैसा हाथो के कंटोल में है ही नहीं अगर कंपनी डूब रही है तो उनके पैसा डूब रहे हैं। इसका मतलब उनका पैसा उनके हाथो में नहीं है। लोगो ने उतनी मेहनत से पैसे कमाया की उनका खुर खुद का पैसा उन के हाथो में ही नहीं है। तो उसने सोचा कि मैं ऐसी मनी बनाउनगा कि मैं मैं ऐसा पैसा त्यत्यार करूंगा लिस का बंड कटरोल उन ही के हाथो में हो वही से जनम हो कष्टो cryptocurrency. का जैसे बहुत सारा लोग सोचते होंगे को मैं पूरी दुनीया को बदल दूंगा जैसे उस व्यक्ति ने भी जोन सोला होगा होगा कि में पैसे का नाम ही बद‌ल दूनगा पैसे का मायना ही बदल दूंगा वही से cryptocurrency कि शुरुआत हुई

क्रिप्टो करेंसी क्यों बनाई गई?

यह दो शब्दों से मिल कर बना है? जिसका Crypto + currency मिल कर बना हुआ है। • हिंदी में इसका मतलब है कि गोपनीय, छिपा हुआ ऐसी चिज जो छिपी हुई हो गोपनीय हो जिसके बारे में कोई भी पता नहीं कर सकता है। उसे कहते हैं। cryptocurrency

क्रिप्टो करेंसी क्यों बनाई गई?

इसका आविष्कार सातोशी नकामोतो नामक एकक्रिप्टोकरेंसी में

2009 में क्रिप्टो करेंसी जब बनाई गई थी तब उसका मूल्य शून्य था तब किसी को पता नहीं था कि कृपा करेंसी होती है तो क्या होता है या क्या किया जाता है कैसे खरीदते हैं इसिलिए इसका प्राइस 0 था धीरे-धीरे लोगों को उसके बारे में पता चलता गया लोग धीरे-धीरे-धीरे इसको खरीदें2010 में भारतीय मुल्य के हिसाब से ₹2.85 मुल्य हो गया थाआज के टाइम में रुपये 2.85 कि किमत 33 लाख से ज्यादा हो गई हैबिटकॉइन का उच्चतम 46 लाख हो चुका हैयादी उस टाइम किसी व्यक्ति ने 2.85 में बिटकॉइन खरीद कर रखा हुआ होता तो आज के टाइम में 33 लाख हो चुके हैं

क्रिप्टो करेंसी का मूल्य बढ़ता कैसे है?

मांग और आपूर्ति प्रति निर्भर करती है मांग कम होता कीमत कम होता है जिस व्यक्ति ने बिटकॉइन बनाया था उसने पूरी दुनिया के लिए 21 21 मिलियन ही बिटकॉइन बनाया था ना एक ज्यादा बनाया था ना एक काम बनाया था 21 मिलियन में से सारे 18 मिलियन मार्केट में बिटकॉइन आ चुका है और बाकी आना बाकी है और इसका पैसा इस कारण से भरा उसमें बड़ी-बड़ी कंपनियों ने पैसा लगाना शुरू कर दिया और बड़ी बड़ी कंपनी ने यह कहना शुरू कर दिया कि बिटकॉइन भविष्य है जैसे आप सभी एलन मास को जानते ही होंगे उन्हें अपना बहुत सारा पैसा में लगा हुआ था बहुत लोगों ने देखा अकेले मस्त भी बिटकॉइन में पैसा लगा रहे हैं और लोग भी उनको देखकर सभी पैसे लगाना शुरू कर दिया करण से डिमांड बढ़ाने लगी सप्लाई कम हुई तो इसली मार्केट ऊपर जाने से जाने लगी कुछ दिन पहले मस्त ने क्लियर कह दिया त्रिपाठी अवैध लीगल टेंडर के रूप में बिलकुल भी स्वीकार नहीं करेगा हां सुनते ही मार्केट में हर काम मच गया सभी लोग अपनी क्रिप्टो करेंसी बेचें लागे करण मार्केट में बहुत बड़ा गिरावत हुआ था

भारत में क्रिप्टोकरेंसी अवैध है या नहीं ?

भारत में क्रिप्टो करेंसी अवैध है सिर्फ लेकिन ट्रेडिंग के लिए6 अप्रैल 2018 को आरबीआई ने क्रिप्टोर ट्रेडिंग पर प्रतिबंध लगा दिया था बाद में 2020 में क्या प्रतिबन्ध को हटा लिया गया हैऔर कहा कि कृपा करेंसी में जरूर आप ट्रेडिंग कर सकते हैंऔर कहा ये अवैध टेंडर बिलकुल भी नहीं है

क्रिप्टो करेंसी के फायदे क्या हैं ?

1. कोई मेडिएटर नहीं होता है

2. यह ग्लोबल मनी है

3. ट्रांजेक्शन फीस बहुत कम होती है

4. ट्रांजेक्शन जल्दी और आसानी से होता है

क्रिप्टो करेंसी के नुकसान क्या हैं ?

1. गलत ट्रांजेक्शन का पता लगाना मुश्किल

2. गलत कार्यों में प्रयोग होना

3. इसका मूल्य बहुत जल्दी बदलता है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*