TRADER बनने के लिए पाँच कड़क नियम

TRADER बनने के लिए पाँच कड़क नियम स्टॉक मार्केट से पैसा कमाना है पहला कड़क नियम यदि ये भूलोगे पता पता है मुझे कि आपको पहला नियम जो कि आपको याद करना पड़ेगा नो नहीं है तो फिर से रिवाइज करवा देता हूं योर रिस्क बिफोर रिवॉर्ड अब होता क्या है प्रॉफिट का खेल नहीं है ये रिस्क और रिवॉर्ड का खेल है यहां पर लॉस भी होगा प्रॉफिट होगा तो ज्यादा देना है बुधवार गुरुवार शुक्रवार को ट्रेडिंग होती ध्यान से देखिएगा देखिए सोमवार मंगलवार बुधवार गुरुवार शुक्रवार को ट्रेडिंग होती

है ट्रेडिंग डे कितने होते हैं वीक में पांच ही होते हैं छठवें सातवें दिन मार्केट बंद रहता है तीन प्रकार के सिनेरियो लिए हैं मैंने पहला वीक दूसरा सिनेरियो को चेंज कर रहा है देखो क्या

फर्क पड़ेगा बहुत बड़ा फर्क पड़ेगा यदि उसको पता होगा कि मेरी रिस्क कितना है रिवॉर्ड से पहले और सही रिस्क रिवॉर्ड

मैनेज करेगा तो उसके जीवन में कितनी बड़ी खुशहाली आएगी पहले मैं आपको ये दिखा देता हूं देखो मंडे अब क्या हुआ मंडे को उसने ट्रेड लिया प्रॉफिट हो गया ट्यूजडे को

क्या हो गया लॉस हो गया फिर फिर वेडनेसडे को प्रॉफिट फिर लॉस फिर प्रॉफिट तीन दिन प्रॉफिट हुआ दो दिन लॉस हुआ चलो भैया कोई बात नहीं जोड़ा घटाया क्या पाया कि वीक के अंत में उसके अकाउंट में 000 प्रॉफिट दिखा रहा था मतलब उसने क्या किया कि 1:1 के रिस्क रिवॉर्ड पर काम किया अब कई लोगों को तो यही नहीं पता होता है लॉस देते तो अनलिमिटेड देते प्रॉफिट लेते तो इतना लेते हैं इसीलिए उनकी जीवन की सबसे बड़ी दिक्कत है आपको पहले रिस्क डिसाइड करना पड़ेगा कि मैं कितना खोने के लिए तैयार हूं और उसके एवज में पाने का रिवॉर्ड भी डिसाइड करना पड़ेगा यदि आपने रिस्क डिवाइड कर लिया आपने सोच लिया कि भैया मैं 000 दूंगा 000 दूंगा चलो आपने 000 दे दिया लेकिन जब आपको मिलने वाला है और आपने 500 ही लिया और आप भाग गए मार्केट से तो भी आपका काम नहीं बनने वाला है तो भी आप स्टॉक मार्केट स्टॉक मार्केट में नहीं टिक पाएंगे तो सबसे पहले आपको ध्यान देना है कि जितना रिस्क लिया है कम से कम उतना या उससे दुगना तिगुना आपको प्रॉफिट लेना ही पड़ेगा तभी आप इस स्टॉक मार्केट में टिक पाएंगे क्योंकि हर दिन थोड़ी ना प्रॉफिट होने वाला है कभी प्रॉफिट होगा कभी को लॉस होगा उसी का मैनेज करना है आपको चलो दूसरे वीक में क्या हुआ इस वीक में 1:1 का इसने रिस्क रिवर्ड रेशो रखा दूसरे वीक में क्या हुआ इसने कहा जब भी मुझे प्रॉफिट होगा तो मैं दुगुना लूंगा लॉस होगा तो एक गुना ही

दूंगा मतलब 1:2 1000 दूंगा 2000 लूंगा चलो गया दूसरे दिन लॉस तीसरे दिन प्रॉफिट चौथे दिन लॉस पांचवे दिन प्रॉफिट तो 22000 करके 6000 मिल गए और 2000 चले गया तो 6000 में से दो गए इसको सप्ताह के अंत में 000 बच गए देखो पिछले सप्ताह इसको एक 000 बचे थे क्यों क्योंकि इसका रिस्क रिवॉर्ड था 1:1 अब इस सप्ताह में यदि इसको आ 000 बचे हैं और इसका एक और दिन लॉस वाला चले जाता तो भी कोई फर्क नहीं पड़ता ध्यान से सुनिए यदि इसका एक और दिन लॉस वाला चले जाता तो भी फर्क नहीं पड़ता तो भी ये प्रॉफिट में ही निकलता है इस बात को याद रखिएगा इसने अगले सप्ताह सोचा यार 1:3 यूज करके देखता हूं तो जिस दिन प्रॉफिट हुआ इसने 000 लिए 1000 के बदले में जिस दिन लॉस हुआ1000 जाने दिया तो lay 1000 जाने दिया तो इस प्रकार से तीन तर का 9000 मिले 2000 गए मतलब 000 बचे इसके यदि ज्यादा से ज्यादा दिन भी लॉस में चले जाते तो भी ये लॉस में नहीं निकलता ये प्रॉफिट में ही निकलता और यही खेल है रिस्क रिवॉर्ड यदि सही फॉलो कर रहे हैं तो उसका तो पहली बात तो 1:1 1:2 1:3 लेना ही है लेकिन यदि आप लोगों को ये नहीं पता है नो योरस बिफोर रिवॉर्ड तो आप स्टॉक मार्केट में नहीं टिक सकते हैं आपको पहले से पता होना चाहिए कि आप कितना खोने वाले हैं और उसके एवज में कम से कम 1:1 1:2 1:3 पाना ही है नहीं तो बंटाधार हो जाएगा का पहला कड़क नियम नो योर रिस्क रिवर्ड लिख लीजिए

दूसरा कड़क नियम नो योर एग्जिट बिफोर एंट्री भैया एंट्री लेने से पहले आपको अपनी एग्जिट पता होना चाहिए कि भागना क्या है मुझे क्योंकि स्टॉक मार्केट जो जगह है ना वो दौड़ा-दौड़ा कर मारने वाली है आपको पानी भी नहीं पीने देगी और दौड़ा-दौड़ा के मारेगी प्यास लगेगी आपको जब आपका ट्रेड फेवर में नहीं रहेगा लॉस

होते दिखेगा आप पानी घुटकला चाहेंगे कि भाई मैं पानी पी लू लेकिन घटका जाएगा नहीं अंदर पेट में जाएगा नहीं उबाल खाके बाहर आ जाएगा क्यों क्योंकि लॉस बड़ा हो जाएगा तो इसलिए हमेशा याद रखिए जब भी आप स्टॉक मार्केट में किसी भी स्टॉक में इंट्राडे में ऑप्शन में फ्यूचर में कहीं भी एंट्री कर रहे हैं अपने आप से पहले पूछो भैया आप एग्जिट कैसे करोगे अब एग्जिट कैसे करते हैं दो प्रकार की एग्जिट होती है पहला प्रॉफिट में एग्जिट कि भैया प्रॉफिट मिल रहा है तो एग्जिट कर ल और दूसरा लॉस हो

रहा है तो एग्जिट कर लो और दोनों ही एग्जिट आपको अच्छे से पता होना चाहिए फिर से सुन लो एग्जिट सिर्फ लॉस में नहीं होती है या सिर्फ प्रॉफिट में नहीं होती है एग्जिट दो प्रकार की होती है यदि आपको प्रॉफिट हो रहा है तो भी तो एग्जिट करना है ना कि आप आप सोच रहे हैं वो तो सीधा-सीधा लंबा आसमान की तरफ चला जाएगा आपका स्टॉक नहीं नहीं स्क्रीन फाड़ कर नहीं निकलेगा वो स्क्रीन में ही रहेगा लेकिन आपको पता चल होना चाहिए कि आपका रिस्क रिवॉर्ड क्या था और उसके अकॉर्डिंग आप प्रॉफिट में या लॉस में एग्जिट कर रहे हैं या नहीं देखो कुछ पॉइंट लिखे उन पॉइंट को आपको बड़ी ही ध्यान से देखना है समझना है आपको पहला पॉइंट याद रखना है व्हाट इज द बेस ऑफ योर एग्जिट जब भी एंट्री ले उससे पहले एंट्री मत लो पहले पूछो कि भैया बेस

क्या है जैसे हम अपने गुरुकुल में सिखाते हैं कि भैया आपको वेपन कैंडल के हिसाब से

अपनी एंट्री और एग्जिट को बनाना है जिस कैंडल को देखकर आपको लगा कि यार ये ब्रेकआउट है ब्रेकडाउन है सपोर्ट है रेजिस्टेंस है उसी कैंडल को आप वेपन कैंडल मानते हैं ही कैंडल को देखकर आप ट्रिगर हुए कि मुझे इस ट्रेड में एंट्री लेना है चाहे वो कॉल की हो पुट की हो किसी स्टॉक को खरीदने की हो बेचने की हो जिस कैंडल को देखकर आपको ये लगा उसके दो-तीन पॉइंट नीचे या ऊपर आप क्या लगाते हैं स्टॉप लॉस लगाते हैं और जो भी उसका रिस्क रिवॉर्ड है यदि आपका मैनेज हो रहा है मनी मैनेजमेंट रिस्क मैनेजमेंट हो रहा है तो उससे 1:2 1:3 का रिस्क रिवॉर्ड प्रॉफिट रेशो आप लोग रखते हैं प्रॉफिट लॉस का रेशो रखते हैं तो इस बात को याद रखिए कि पहले आपको पता होना चाहिए व्हाट इज द बेस ऑफ योर एग्जिट क्या बेस है कब एग्जिट करेंगे क्यों एग्जिट करेंगे आपको पहले से पता होना चाहिए लोग क्या करते हैं ट्रेड ले लेते हैं उसके बाद सोचते हैं अब एग्जिट क करूं अरे भाई अब क्या होगा मेरा अरे भैया कुछ नहीं होने वाला सब कुछ खत्म होने वाला है इसलिए आपको एंट्री से पहले पता होना चाहिए कि एग्जिट कहां है पहला आपको पता होना चाहिए कि बेस क्या है आपके एग्जिट का क्यों एग्जिट करोगे कब एग्जिट करोगे पहले पता होना चाहिए अब दूसरा पॉइंट देखिएगा कि भैया हाउ मेनी पॉइंट्स यू विल गिव टू मार्केट इफ एग्जिट मतलब लॉस में यदि एग्जिट कर रहे तो कितना पॉइंट दोगे कई बच्चे क्या गलती करते हैं मैंने 25 पॉइंट सोचा है कि नीचे आएगा

तो मैं निकल जाऊंगा अभी आ गया 30 पॉइंट अभी भी सोच रहे है यार 35 तक देख लेता हूं नहीं तो ऊपर चले जाएगा अरे 40 तक देख लेता हूं नहीं तो ऊपर चले जाएगा ये मूर्खता ये गलती नहीं करना है दूसरा पॉइंट याद रखो कि भैया आपको पहले से पता होना चाहिए कितने पॉइंट आप लोग मार्केट को देने वाले हैं यदि मार्केट आपसे लेना चाहता है सिंपल सी बात है तीसरा पॉइंट याद रखिएगा इज योर एग्जिट इन योर रिस्क रिवॉर्ड सिंपल सी बात ये है कि क्या आपने जो रिस्क रिवॉर्ड सोचा था कि भैया मैं 1:1 1:2 1:3 रखूंगा तो उसके अकॉर्डिंग यदि लॉस हुआ है तो आप एक में निकले कि नहीं निकले या फिर 1:23 मिला तो आप निकले कि नहीं निकले नहीं तो कई बार क्या होता है 1:3 के पास टच करता है और वापस से नीचे आ जाता है फिर कहते हैं अरे यार वापस से ऊपर जाएगा ऊपर नहीं जाता है वापस लॉस में धकेल देता है आपको तो कई बार ये गलती भी आप लोगों से होगी और इसी को आपको सुधारना है इसी को आपको ठीक करना है कि ये गलती आपको नहीं करना है तो आपको पता होना चाहिए कि जो रिस्क रिवॉर्ड में आपने एंट्री ली थी उससे पहले सोचा था कि यहां आएगा तो मैं निकल जाऊंगा लॉस में यहां आएगा तो मैं प्रॉफिट में निकल जाऊंगा तो वो फॉलो कर रहे हैं कि नहीं कर रहे हैं चौथा पॉइंट हाउ मेनी पॉइंट्स यू विल गेट इफ यू एग्जिट इन प्रॉफिट सिंपल सी बात है कि लॉस में तो निकाल लिया कि चलो भैया 20 पॉइंट नीचे आया मैं निकाल लूंगा अब प्रॉफिट में यदि आपको 40 मिल रहे है 60 मिल रहे है तो आप निकलना चाह रहे हो कि नहीं चाह रहे हो क्योंकि ऑप्शन ट्रेडिंग में यही सबसे बड़ी दिक्कत है चलो स्टॉक को तो ले लिया आपने ऊपर नीचे होता हुआ ऊपर चला जाएगा यदि अप ट्रेंड चल रहा है तो लेकिन ऑप्शन में ऐसा नहीं होता है यदि आपको आपकी मर्जी के अकॉर्डिंग पॉइंट मिल गए हैं तो आपको इस बात को याद रखना है कि तुरंत वहां से एग्जिट मार जाना है नहीं तो मार्केट कभी भी रिवर्स मार सकता है यदि आपने पॉइंट लगाए हैं वहां पर यदि आपने कोई रेजिस्टेंस या सपोर्ट लगा कर रखा है तो आपको ध्यान देना होगा कि पहले से आपको पता होना चाहिए कि मेरा रिस्क रिवर्ड फॉलो हो गया मुझे यहां पर नहीं रहना है तो दूसरा कड़क नियम यही है कि भैया आपको पता होना चाहिए कि एग्जिट कहां करेंगे एंट्री लेने से पहले आपको ये पता होना चाहिए

3. Know When ‘NOT’ To Trade

मैं साइडवेज बाजार में व्यापार नहीं

करूंगामैं डायरेक्ट ब्रेक आउटल में व्यापार नहीं करूंगासमाचार बाजार में व्यापार नहीं

करेंगेमैं आउट सेटअप के साथ व्यापार नहीं करूंगा

4. Be More Logical Than Emotional

किसी के कहने पर ट्रेड मत करो

मुझे ऐसा लगता है पर ट्रेड मत करो

लालच में ट्रेड मत करोगुस्से में ट्रेड मत करो

EGO में ट्रेड मत करो

किसी का PROFIT देखकर ट्रेड मत करो

5. Trade Price, Not News

अच्छी खबर अच्छी कीमत कार्रवाई

अच्छी खबर बुरी कीमत कार्रवाई

बुरी खबर अच्छी कीमत कार्रवाई

बुरी खबर बुरी कीमत कार्रवाई

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*